संता बंता जोक्स हिंदी हरयाणवी चुटकुले

संता बंता जोक्स हिंदी हरयाणवी चुटकुले

बन्ता : क्या कर रहे हो ???

सन्ता : बदला ले रहा हूँ..??

बन्ता : किससे

सन्ता : वक़्त ने मुझे बर्बाद किया है . . .
मैं अब वक़्त बर्बाद कर रहा हूँ..


संता (बंता से)-अरे यार, यह बता कि अक्ल बड़ी या भैंस?

बंता- रुक, सोचने दे जरा..(थोड़ी देर सोचने के बाद)

बंता- मुझे बेवकूफ समझा है क्या?
पहले डेट ऑफ बर्थ तो बता दोनों के!


संता और बंता दोनों भाई एक
ही क्लास में पढ़ते थे।j.

अध्यापिका: तुम दोनों ने अपने पापा का नाम अलग-अलग क्यों लिखा?

संता: मैडम फिर आप कहोगे नक़ल मारी है, इसीलिए।


संता : बताओ इंसान के बच्चों और जानवरों के बच्चों में क्या फर्क है ?

बंता : गधे का बच्चा बड़ा होकर गधा बनता हैं!

उल्लू का बच्चा उल्लू बनता है!

पर इंसान का बच्चा बड़ा होकर गधा भी बन सकता है और उल्लू भी !


संता के घर मेहमान आये,
संता – क्या लेंगे चाय या काफी?

मेहमान- जी नहीं, बहुत
गर्मी है,

कुछ ठंडा है ?

संता – हाँ है ना ठंडा,
कपडे उतार के फर्श पे लेट जाओ,
बहुत ठंडा है


संता :- “और रसगुल्ला लीजिये ना..!!”

मेहमान :- “नहीं शुक्रिया, मैं पहले ही 3-4 खा
चुका हूँ।..”

संता :- “खाये तो आपने 9 हैं, पर चलो यहाँ
कौन गिन रहा है!!…”


पप्पू दारू पी के ताला खोलने लगा,
हाथ कापने की वजह से ताला नही खुला…,
.
.
संता- मैं खोल दूँ,
.
पप्पू- मैं खोल लूँगा, तू घर को पकड़,
.
.
.
साला बहुत हिल रहा है…

Leave a Reply